जब आप किसी से सच्चा प्यार करते हैं, तो उन भावनाओं को शब्दों के माध्यम से व्यक्त करना कठिन हो सकता है। वास्तव में, असली प्यार आपको घुटनों में कमजोरी और बोलने में असमर्थ महसूस कर सकता है। सभी समय के सर्वश्रेष्ठ प्रेम संदेशों की यह सूची आपके साथी के लिए अपनी भावनाओं और प्रेम की भावनाओं को व्यक्त करना आसान बनाना सुनिश्चित करती है।

हर किसी को खुश करना,
शायद हमारे बस मैं न हो,
लेकिन किसी को हमारी वजह
से दुःख न पहुंचे यह तोह,
हमारे बस मैं है ||

बस एक मुस्कान ही काफी है
तुम दिल में बसे रहो ये अरमान ही काफी है
ये नहीं कहता तुम मेरे हो जाओ
बस हमें याद रखना ये अहसान ही काफी है.

मेरा हर पल आज खूबसूरत है दिल में जो सिर्फ
तेरी ही सूरत है कुछ भी कहे ये दुनिया अब
गम नहीं दुनिया से ज्यादा मुझे तेरी जरूरत है
!

यह भी पढ़े: सुप्रभात की शुभकामनाएं हिंदी में

पता है तुम्हारी और हमारी
मुस्कान में फ़र्क क्या है?
तुम खुश हो कर मुस्कुराते हो,
हम तुम्हे खुश देख के मुस्कुराते हैं..

जो चाहा था ख्वाबों में वो मिला हमको,
खुदा से ना कोई शिकायत ना गिला है हमको,
नहीं कोई और ख्वाईश है अब हमारी,
जब से मिल गयी है मोहब्बत तुम्हारी

सब मिल गया है आपको पा कर,
हमारा हर ग़म मिट गया है आपको पा कर,
सवर गयी है ज़िन्दगी हमारी हर लम्हे के साथ,
आपको अपनी ज़िन्दगी का हिस्सा बना कर…

वो रूठकर बोला,
तुम्हे सारी शिकायते हमसे ही क्यों है,
हमने भी सर झुकाकर बोल दिया की,
हमें सारी उम्मीदे भी तो तुमसे ही है…!!

कहते हैं रिश्ते नशा बन जाते हैं…
कोई कहते हैं रिश्ते सजा बन जाते हैं..
पर रिश्ते निभाओ सच्चे दिल से तो वे रिश्ते ही जीने की वजह बन जाते हैं.

समेट लो इन नाजुक पलों को,
न जाने ये लम्हे कल हो ना हो,
चाहे हो भी ये लम्हे,
क्या मालूम शामिल उन पलों में हम हो ना हो…

यादों की भीड़ में आप की परछाई सी लगती है, कानों में कोई आवाज़ एक शहनाई सी लगती है, जब आप करीब हैं तो अपना सा लगता है, वर्ना सीने में सांस भी पराई सी लगती है।

दो कदम तो सब साथ चलते हैं, पर ज़िंदगी भर का साथ कोई नहीं निभाता, अगर रो कर भुलाई जाती यादें, तो हँस कर कोई गम नहीं छुपाता।

तुम मुझे भूल कर तो देखो, हर ख़ुशी रूठ जाएगी, जब अकेले तुम बैठोगे,

खुद-ब-खुद मेरी याद आएगी

जब तनहाई मे आपकी याद आती है, होंठो पे एक ही फरियाद आती है, खुदा आपको हर खुशी दे, क्योंकि आज भी हमारी हर खुशी आपके बाद आती है।

ना जाने क्यों तुझे देखने के बाद भी.तुझे ही देखने की चाहत रहती है!!!!

इन आँखों को जब तेरा दीदार हो जाता हैदिन कोई भी हो मेरा त्यौहार हो जाता है.

किसी न किसी को किसी पर एतवार हो जाता है,
एक अजनबी सा चेहरा ही यार हो जाता है,
खूबियों से ही नही होती मोहब्बत सदा,
किसी की कमियों से भी कभी प्यार हो जाता है।

अपनी मोहब्बत से सजाना है तुझको, कितनी चाहत है तुझसे ये बताना है तुझको, राहों में तेरी बिछाकर मोहब्बत अपनी, इश्क के सफर पर ले जाना है तुझको।